सिंधु नदी- एशिया की सबसे लंबी नदी

उद्गम

  • सिंधु नदी का उद्गम तिब्बत के मानसरोवर के निकट सिन-का-बाब नामक जलधारा से होता है।

लबाई

  • सिंधु नदी की लम्बाई  3180 किमी है।

देश

  • सिंधु नदी तिब्बत , भारत और  पाकिस्तान से होकर गुजरती है।

सहायक नदियां

  • बाएं से – ज़ांस्कर नदी, सुरु नदी, सुन नदी, झेलम नदी, चिनाब नदी, रावी नदी, ब्यास नदी, सतलज नदी, पानजनाद नदी
  • दाएं से – श्योक नदी, हुनजा नदी, गिलगित नदी, स्वात नदी, कुनार नदी, काबुल नदी, कुर्रम नदी, गोमल नदी,, झोब नदी

मुहाना

  • अरब सागर

परियोजना

सिंधु नदी के साथ जुडी महत्वपूर्ण नदी घाटी परियोजनाएं है –

  1. भाखड़ा नांगल, इंदिरा गांधी परियोजना,
  2. पोंग परियोजना चमेरा परियोजना,
  3. थीन परियोजना,
  4. नाथपा झाकड़ी परियोजना,
  5. सलाल, बगलिहार परियोजना,
  6. दुलहस्ती परियोजना,
  7. तुलबुल परियोजना, और
  8. उड़ी परियोजना।

तट पर बसा शहर

  • सिंधु नदी के तट पर भारत के मुख्य शहर लेह, स्कार्दु, दासु, बेशम, थाकोट, डेरा इश्माइल खान, सुक्कूर, हैदराबाद स्थित है।

अन्य नाम

  • वितस्ता, चन्द्रभागा, ईरावती, विपासा एंव शतद्रु.

अपवाह तंत्र

सिन्धु नदी (अंग्रेज़ी: Indus River) एशिया की सबसे लंबी नदियों में से एक है। यह पाकिस्तान, भारत (जम्मू और कश्मीर) और चीन (पश्चिमी तिब्बत) के माध्यम से बहती है। सिन्धु नदी का उद्गम स्थल, तिब्बत के मानसरोवर के निकट सिन-का-बाब नामक जलधारा माना जाता है।

इस नदी की लंबाई प्रायः ३१८०(२८८०) किलोमीटर है। यहां से यह नदी तिब्बत और कश्मीर के बीच बहती है। नंगा पर्वत के उत्तरी भाग से घूम कर यह दक्षिण पश्चिम में पाकिस्तान के बीच से गुजरती है और फिर जाकर अरब सागर में मिलती है। इस नदी का ज्यादातर अंश पाकिस्तान में प्रवाहित होता है। यह पाकिस्तान की सबसे लंबी नदी और राष्ट्रीय नदी है।

विशेष बिंदु

  • सिंधु नदी की पांच उपनदियां – चिनाब , झेलम , व्यास , रावी , सतलुज हैं , जो मिथनकोट में पंचनद का निर्माण करती हैं ।
  • सिंधु सभ्यता विश्व की प्राचीन सभ्यताओं में से एक है।
  • सिंधु और उसके उप नदियों के जल को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच 1960 में विश्व बैंक की मध्यस्थता में समझौता हुआ है।

सिंधु नदी से संबंधित प्रश्न उत्तर

सिंधु नदी को वितस्ता, चन्द्रभागा, ईरावती, विपासा एंव शतद्रु.आदि नाम से भी जाना जाता है।
सिंधु नदी अरब सागर में गिरती है।
सिंधु नदी की लम्बाई  3180 किमी है।

Leave a Comment